अधिकारी की प्रताड़ना के चलते लोको पायलट ने आत्महत्या की,कर्मचारियों का प्रदर्शन

जबलपुर।अधिकारी की प्रताड़ना से तंग आकर एक ड्राइवर हैरिसन जॉन ने आत्महत्या कर ली।काफी समय से वह सीनियर डीईई टीआरओ द्वारा एक मामले में दो बड़ी सजा देने व मेल एक्सप्रेस ड्राईवर से पदनावत करते हुए उसे शंटर बनाने के कारण वह काफी तनाव में था। उस पर कटनी रनिंग रूम की 150 चादर जलाने का आरोप था। आत्महत्या के विरोध में कर्मचारियों ने जमकर प्रदर्शन किया और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की।
कुछ समय पूर्व कटनी रनिंग रूम में 150 चादरें जलाने का आरोप उक्त ड्राईवर पर लगाया गया था। सबसे बड़ी बात तो यह थी कि इतनी बड़ी संख्या में चादरें जलाईं गईं लेकिन किसी ने भी इनको जलते हुए नहीं देखा था। बाद में उक्त चादरों को चोरी होना मान लिया गया था। लेकिन इसका ठीकरा जॉन पर फोड़ दिया गया था।
सूत्रों का रेलवार्ता से दावा था कि सजा के कारण जॉन और उसका परिवार काफी परेशान था। बताया जाता है कि वरिष्ठ मण्डल विद्युत अभियंता, टीआरओ, सुरेंद्र यादव द्वारा एक ही आरोप में दो दो बड़ी सजा दें डालीं। सजा के खिलाफ कई दिनों से जॉन और उसका परिवार एडीआरएम से भी गुहार लगा चुका था। लेकिन उन्होंने भी इस मामले में कोई रियायत नहीं दी। सभी तरफ से निराश होने के बाद जॉन ने तनाव में आज महाकोशल एक्सप्रेस के सामने पटरी पर सर रखकर जान दे दी। आत्महत्या की खबर फैलते ही रनिंग कर्मचारियों में जमकर आक्रोष फैल गया।कर्मचारी अधिकारी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग कर रहे हैं।

0Shares

2 comments

  1. अब इस समय अधिकारियो का ज्यादा ही दवाब डाला जा रहा है। हम ecr में कार्यरत हूँ और यहां का हालात तो मौत से खेलने जैसा हो गया है। हमलोगों से लगतार 14 दिन काम लिया गया और हमारे रेस्ट के बारे में कुछ नही बताया जा रहा है। कब मिलेगी हमे हमारा CR, इस बारे में कोई जानकारी नही है।

  2. Railway me jamindari Partha ko khatam Kare, or d. E. E, Tro par Kari se Kari karwai ki Jay,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *