डिप्टी सीटीआई राजीव निगम

बर्निंग ट्रेन बनी एपी एक्सप्रैस में अचानक आये दो फरिश्ते,और बच गई जनहानि,एडीआरएम ने किया सम्मानित

डिप्टी सीटीआई दिलीप सिंह बुन्देला

झांसी। याद कीजिये बीते दिनों का वह मंजर,जब नईदिल्ली से विशाखापट्टनम जाने वाली 22416 एपी एक्सप्रेस ग्वालियर के निकट बर्निंग ट्रेन बन गई। दो कोचों में भीषण आग लग जाने की वजह से जब किसी को

कुछ समझ में नहीं आ रहा था तब अचानक ट्रेन में दो कर्मचारी फरिश्ते बनकर आये। इन्होने न सिर्फ यात्रियों को ढाढस बंधाया बल्कि पूरी तरह से जनहानि होने से भी बचा ली। आज अपर मण्डल रेल प्रबंधक ने इन दोनों डिप्टी सीटीआई क्रमश: राजीव निगम व दिलीप सिंह बुन्देला को न सिर्फ सम्मानित किया बल्कि उनकी कार्य प्रणाली की भूरी-भूरी प्रंशसा भी की।
गौरतलब है कि बीते दिनों 21 मई को नईदिल्ली से चलकर विशाखापट्टनम जाने वाली 22416 एपी एक्सप्रैस के दो कोचों में ग्वालियर के निकट बिरलानगर स्टेशन के पास अचानक आग लग गई थी। जिसने भी नजदीक से इस आग को देखा उसके मुंह से एक ही बात निकली कि इतनी भीषण

आग में कुछ भी नहीं बचा होगा। लेकिन इन दोनों कर्मचारियों ने न सिर्फ धैर्य का परिचय दिया बल्कि आराम से सभी यात्रियों को कोच से बाहर निकाल लिया। इसके बाद उनके सामान को भी जलने से जितना हो सकता था उतना बचा लिया।
ऐसे समय में जब कुछ चैंकिग कर्मचारियों की वजह से यह पूरा विभाग अपने सम्मान को तरस रहा है तब ऐसे में राजीव निगम व दिलीप सिंह बुन्देला जैसे कर्मचारियों ने साबित कर दिया कि किसी भी विभाग में सभी कर्मचारी एक समान नहीं हो सकते। इन दोनों कर्मचारियों की कार्य प्रणाली ने साबित कर दिया किया यूं ही नहीं रेलवे कर्मचारियों को सम्मान की दृष्टि से देखा जाता है।
आज अपर मण्डल रेल प्रबंधक संजय सिंह नेगी ने इन दोनों कर्मचारियों को सम्मान पत्र देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर सीनियर डीसीएम विपिन कुमार सिंह भी उपस्थित रहे। ऐसे कर्मचारियों को रेलवार्ता का शत-शत नमन।

0Shares

Check Also

एक बार फिर ठगे गए ट्रैकमेन,आखिर कौन है इनका सबसे बड़ा दुश्मन!

इसके नेता यदि इन दोनों फेडरेशन में शरणागत होने के बजाए यदि रेलवे बोर्ड के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *