“महिलाओं के कपड़े देखना ही है कांग्रेस का संस्कार”

0
167

गुजरात की पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के महिलाओं को लेकर दिए गए बयान पर पार्टी को घेरा, कांग्रेस से माफी मांगने के लिए कहा है।

अहमदाबाद. गुजरात की पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के महिलाओं को लेकर दिए गए बयान पर पार्टी को घेरा है। उन्होंने इसके लिए कांग्रेस से माफी मांगने के लिए कहा है। मंगलवार को उन्होंने कहा कि राहुल का बयान कांग्रेस की दृष्टि दर्शाता है। क्या कांग्रेस की महिलाएं उनसे पूछ कर कपड़े पहनती हैं? यह कांग्रेस का संस्कार है। जिसमें महिलाएं जहां जाती हैं, वहां लोगों की दृष्टि होती है। राहुल ने गुजरात दौरे पर एक कार्यक्रम में कहा था कि आपने आरएसएस में कितनी महिलाएं देखी हैं? शाखाओं में आपने किसी महिला को शॉर्ट्स में देखा है? मैंने तो नहीं देखा है। कांग्रेस में हर जगह महिलाएं हैं। आरएसएस में एक महिला नहीं है। पता नहीं महिलाओं ने क्या गलती है?
राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ की शाखाओं में महिलाओं के शॉर्ट्स पहनने के कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के बयान पर बीजेपी हमलावर हो गई है।
आनंदीबेन ने कहा कि क्या यही कांग्रेस की दृष्टि यही है कि महिला ने क्या पहना है या नहीं। राहुल ने यह कहकर गुजरात की महिलाओं का अपमान किया है। उन्हें शब्द वापस लेने चाहिए। माफी मांगनी चाहिए। नहीं तो, पूरे राज्य की महिलाएं इकट्ठी होंगी। भाजपा बची-कुची सीट भी यहां खो देगी। क्या कांग्रेस की महिलाएं कपड़े पूछ कर पहनती हैं और सभाओं में जाती हैं। गुजरात की महिलाएं भली हैं। वे देश की सेवा का काम करती हैं। गरीबों की सेवा करती हैं और कई संस्थाएं चलाती हैं। वे उसी से अपना नेतृत्व खड़ा करती हैं। अगर ऐसे में कोई ऐसा-वैसा बोल जाता है, तो उसके सामने ताकतवर बनकर सामना करती हैं।
केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने भी इस पर कड़ी प्रतिक्रिया जाहिर की। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने जिस तरह से महिलाओं पर अभद्र टिप्पणी की है, मैं उसका खंडन करती हूं। उनसे इस प्रकार के ओछे बयान की अपेक्षा की जा सकती है, क्योंकि चुनाव के चलते एक बार फिर गुजरात में हार का सामना करते हुए उनकी बौखलाहट झलकती है। उधर, भाजपा आईटी सेल प्रभारी ने भी इस लिखा कि महिलाएं क्या पहनें वह उनका अधिकार है पर यह महिलाओं के प्रति राहुल गांधी की गंदी सोच दिखाता है।

LEAVE A REPLY