पोल-खोल

ऊंट आया पहाड़ के नीचे,मेंस यूनियन के मण्डलमंत्री को फर्जीवाड़े में मिली एसएफ 5 चार्जशीट!

झांसी।नेताजी ने बहुत बचने की कोशिश की,लेकिन रेलवार्ता द्वारा लगातार घोटाले उजागर करने के बाद आखिर रेल प्रशासन को अपनी ताकत का अहसास हुआ और नेताजी को मेजर चार्जशीट(एसएफ 5) जारी कर दी गई।विजिलेंस की जांच के बाद उनके घोटाले उजागर होते चले गए और सारी नेतागिरी एक तरफ हो गई।चार्जशीट लेने में आनाकानी करने पर अपर मण्डल रेल प्रबंधक …

Read More »

यह वही शिवगोपाल मिश्रा हैं…….. !

शिवगोपाल मिश्रा को नॉर्दन रेलवे मेंस यूनियन के महामंत्री पद से विदाई कर दी गई है।कभी उनके साथ रहे वरिष्ठ नेता हरभजन सिंह सिद्धू ने उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया।अपने घर मे ही मिली चुनोती से वह एकदम बौखला गए।उन्होंने ऐसा कुछ करने की योजना बनाई जिससे दिल्ली में हो रहे उनके विरोधियों के एजीएम की कहीं चर्चा ही न …

Read More »

पोल खुलने से घबराये शिवगोपाल मिश्रा ने कर्मचारियों को भड़का कर रेलमंत्री पर हमला करवाया!

लखनऊ।अपने यहां बुलाये मेहमान की क्या इज्जत की जाती है ,यह एआईआरएफ के नेताओं ने बता दिया।सच बोलने पर नेताजी ने न सिर्फ कर्मचारियों को भड़काया, बल्कि रेलमंत्री पर जानलेवा हमला करवाने से भी वह पीछे नहीं हटे।दूसरी ओर रेलमंत्री पीयूष गोयल के कार्यालय ने मंत्री के साथ हुई किसी भी प्रकार की झूमाझटकी से इनकार किया है। दरअसल बहुत …

Read More »

मेंस यूनियन के नेता के बिगड़े बोल”जब मैं ड्यूटी रूम में गया तो सारे कपड़े उतार कर लेटी थी डॉक्टर”

आगरा।मेंस यूनियन के नेता महिलाओं की कितनी इज्जत करते है यह उस समय फिर जाहिर हो गया जब खुलेआम माइक से नेताजी ने कहा कि “जब में डॉक्टर के एसी ड्यूटी रूम में गया तो वह सारे कपड़े उतारे लेटी हुईं थी”।यह शब्द नेताजी की किस मानसिकता को दर्शा रहे यह आप स्वयं अच्छे से समझ सकते हैं।वहीं सूत्रों ने …

Read More »

जूही के विद्युत कार्यालय में महिला का शोषण,मामला उजागर होने से और बढ़ गया जुल्म

जूही। एक लड़की शोषण का शिकार होती रही और चारों तरफ हाथ फैला कर मदद मांगती रही लेकिन किसी ने भी उसका साथ देने की जरूरत नहीं समझी। सभी कहते रहेगी कंप्रोमाइज कर लो,आपस में मामला निपटा लो, लेकिन किसी ने भी यह जानने की जरूरत नहीं समझी कि आखिर इसकी असली वजह क्या है ।सबने यही माना कि वह …

Read More »

सूदखोरों के मकड़जाल में फंसकर सब कुछ गंवा रहे कर्मचारी!

रेलकर्मचारियों के बीच सूदखोरों का आतंक दिन पर दिन बढ़ता जा रहा है।इनके कर्ज़ तले कई बीच मे नोकरी छोड़कर स्वेच्छिक सेवानिवृत्ति ले रहे हैं।खासतौर पर छोटे कर्मचारी इनके आसान शिकार हैं। बीते वर्ष में स्वेच्छिक सेवानिवृत्ति लेने वाले अधिकांश कर्मचारी इन सूदखोरों से पीड़ित थे। सूदखोरों का आतंक रेलवे में दिनप्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। हालांकि रेलवे ने इनसे …

Read More »

आखिर कब तक बहेगी भ्रस्टाचार की गंगा,सर्वेक्षण में फिस्सडी आये झांसी स्टेशन की सफाई व्यवस्था पुनः पुरानी कम्पनी को!

मण्डल के अधिकारियों का खुला संरक्षण है प्राइम क्लीनिंग सर्विस के ऊपर,सर्वेक्षण में फिस्सडी रहे ग्वालियर स्टेशन की सफाई व्यवस्था भी है इसी के हवाले झांसी।सफाई के मामले में रेलवे बोर्ड द्वारा कराए सर्वेक्षण में नीचे से फिसड्डी साबित हो रहे झांसी स्टेशन की सफाई का ठेका उसी कम्पनी को एक बार फिर से दे दिया गया है जो लगभग …

Read More »

शक के घेरे में स्टेशन डायरेक्टर कंचन,ट्रांसफर रुकवाने के लिए प्रकाशित करवाये अपने खिलाफ समाचार!

यदि इलाहाबाद के लिए अनफिट हैं कंचन तब फिर झांसी के लिए कैसे हैं फिट इलाहाबाद/झांसी।अपना ट्रांसफर रुकवाने के लिए कर्मचारी क्या क्या नहीं करता,यह तो पहले से सर्वविदित है लेकिन अब अधिकारी भी इसी राह पर चलने लगे हैं। झांसी के स्टेशन निदेशक के पद से स्थानांतरित गिरीश कंचन के ऊपर अपने ही खिलाफ समाचार प्रकाशित कराने के आरोप …

Read More »

कमसम से खाना खरीदते हैं तो हो जाएं सावधान, घटिया सामान से बनते है यहां पर खाद्य पदार्थ!

झांसी।सावधान यात्रियो….!यदि आप बड़े ब्रांड की वजह से कमसम फूड्स प्लाजा से खाना आदि लेकर खाते हैं तो एक बार फिर अपने निर्णय पर पुर्नविचार कर लीजिए। जांच में इसके यहां इस्तेमाल होने वाले खाद्य पदार्थ अमानक पाए गये हैं। यह फूड्स चैन वृंदावन फूड्स प्राइवेट लिमिटेड द्वारा संचालित है जो शताब्दी में भी केटरिंग देखती है,जिसके खाने की क्वालिटी …

Read More »

सरकार का साफ इंकार,न एनपीएस रद्द होगी और न ही बढेगा फिटमेंट फैक्टर, कौन से बिलों में छिपे हुए है हड़ताल करने वाले!

नईदिल्ली।सरकार ने साफ कर दिया है कि वह न तो फिटमेंट फेक्टर बढ़ाने जा रही है और न ही नई पेंशन योजना को बंद करने जा रही है। रेलवार्ता को बीते दिनों प्राप्त पत्रों से यह साफ हो गया है कि इन दोनों ही मुद्दों पर सरकार का रुख क्या है।वहीं दूसरी ओर चार महीने के अंदर इन दोनों ही …

Read More »