कमसम से खाना खरीदते हैं तो हो जाएं सावधान, घटिया सामान से बनते है यहां पर खाद्य पदार्थ!

झांसी।सावधान यात्रियो….!यदि आप बड़े ब्रांड की वजह से कमसम फूड्स प्लाजा से खाना आदि लेकर खाते हैं तो एक बार फिर अपने निर्णय पर पुर्नविचार कर लीजिए। जांच में इसके यहां इस्तेमाल होने वाले खाद्य पदार्थ अमानक पाए गये हैं। यह फूड्स चैन वृंदावन फूड्स प्राइवेट लिमिटेड द्वारा संचालित है जो शताब्दी में भी केटरिंग देखती है,जिसके खाने की क्वालिटी जगजाहिर है।
झांसी स्टेशन पर स्थित कमसम फूड्स प्लाजा में घटिया खाना बिक रहा है।इसमें इस्तेमाल होने वाले खाद्य पदार्थ यात्रियों के खाने के लायक नहीं है।यह उस समय साफ हो गया जब बीते दिनों इसके यहां से संगृहीत कई खाद्य पदार्थो के नमूने जांच प्रयोगशाला में अमानक पाए गए। रेलवार्ता को प्राप्त ऐसे ही एक जांच रिपोर्ट में इसके यहां इस्तेमाल होने वाले सामान की गुड़वत्ता का पता चला है।इस रिपोर्ट के अनुसार खाना बनाने में इस्तेमाल होने वाले कई मसालों के अलावा कई अन्य सामग्री गुड़वत्ता विहीन पाई गईं हैं।
एक ओर जहां रेल मंत्री और रेलवे बोर्ड के सबसे प्रभावशाली अध्यक्ष अश्विनी लोहानी यात्रियों को बेहतर से बेहतर खाद्य पदार्थ यात्रा के दौरान उपलब्ध करवाने के लिए दिन रात एक किये हुए है वहीं दूसरी ओर यह लोग इस अभियान को पटरी पर से उतारने का कोई भी अवसर नहीं छोड़ रहे हैं।
दरअसल कमसम फूड्स प्लाजा के नाम से कई स्टेशनों में खुले इस रेस्टोरेंट में लगभग हर जगह गुड़वत्ता विहीन खाने की शिकायतें मिलती रहीं हैं। इस फूड्स चैन को संचालित करने वाले व्रन्दावन फूड्स प्राइवेट लिमिटेड के पास कई शताब्दी ट्रेनों में खाना सप्लाई का ठेका है।इन ट्रेनों में किस स्तर का खाना मिलता है यह किसी से छिपा हुआ नहीं है।
वहीं दूसरी ओर अमानक खाना बेचने या फिर खाद्य पदार्थों के नमूनों के फैल होने से इनके संचालकों पर कोई असर नहीं पड़ता है।ज्यादा से ज्यादा दो चार हजार का फाइन भर कर यह लोग फिर घटिया सामान बेचने लगते हैं। इस मामले में भी यही होना निश्चित है।एक दो हजार का फ़ाईन भरकर यह फिर से वही करने लगेंगे।

46Shares

Check Also

एनपीएस को लेकर सरकारी घोषणा से युवाओं में नाराजगी,सभी दल जिम्मेदार है इसे लागू करने में

एनपीएस को रद्द कराने के लिए संघर्ष कर रहे सूरवीर आज आये दिन उन नेताओं …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *