सुरक्षित रेल यात्रा के दावे हवा हवाई,जमकर हुई यात्रियों से लूटपाट

मानिकपुर। सुरक्षित रेल यात्रा के दावे उस समय धरे रह गए जब चलती ट्रेन में लुटेरों ने जमकर उत्पात मचाया।ट्रेन की सीट पर पड़े खून के निशान बता रहे हैं कि घटना कितनी बड़ी है।डभौरा-पनहाई स्टेशन के बीच मानिकपुर के पास देर रात गंगाकावेरी एक्सप्रेस में लूट हुई है। लूटेरों ने डभौरा-पनहाई के बीच 7 कोच में सवार यात्रियों को हथियार से धमकाते हुए उनके पास रखे जेबरात और नगदी लूट लिए। सूचना के बाद जीआरपी, आरपीएफ चित्रकूट एसपी के नेतृत्व में भारी पुलिस बल द्वारा घटना स्थल के पास जंगल में सर्च आॅपरेशन चलाया जा रहा है।

जानकारी के मुताकि चैन्नई से चलकर छपरा जाने वाली गंगाकावेरी ट्रेन क्रमांक 2669 बीती रात निर्धारित समय पर सतना से रवाना हुई थी। मानिकपुर से आगे बढ़ने के बाद रात 1.20 डभौरा-पनहाई स्टेशन के बीच ट्रेन में पहले से सवार आधा दर्जन लूटेरों ने एस 3 से एस 9 कोच तक यात्रियों के साथ जमकर लूटपाट की है। रायफल और धारदार हथियार चमकाते हुए लूटेरों ने महिला यात्रियों के जेबर उतरवाये और पुरुषों के पास रखे नगदी छीन लिए है। करीब 10 लाख की लूट बताई जा रही है।
सूत्र बताते है कि घटना इलाहाबाद रेल क्षेत्र की है। वहां आए-दिन लूट, चोरी और छीना-झपटी की घटनाएं हो रही है। उक्त घटना में यूपी जीआरपी की भूमिका संदिग्ध बताई जा रही है। सूचना के बाद चित्रकूट एसपी मनोज झा, अपर पुलिस अधीक्षक बलवंत चौधरी, थाना प्रभारी केपी दुबे, आरपीएफ इंस्पेक्टर ओंकार त्रिपाठी के नेतृत्व में भारी पुलिस बल सर्च आॅपरेशन किया जा रहा है।
घटना की जांच के लिए इलाहाबाद डीआईजी मनोज तिवारी और डॉग स्क्वाड मौके पर पहुंचा है। लूटेरों को पकड़ने के लिए डॉग स्क्वाड के जरिए पुलिस चप्पे-चप्पे तलाश में जुटी है उनके साथ प्रशासन के भी कई अधिकारी मौजूद है।
इस लूटपाट में करीब एक दर्जन यात्रियों के घायल होने की जानकारी सूत्र दे रहे हैं।

0Shares

Check Also

ट्रैकमैनों से डरी लाल झंडे की यूनियन,ईसीसी सोसायटी चुनाव में फर्जीवाड़ा, पहले पैनल वैलिड किया फिर किया रद्द

चुनाव अधिकारी व सीपीओ ने किया लाल झंडे की यूनियन के दवाब में गलत फैसला,13 …

2 comments

  1. Very bad.No words is left to condemn this.

  2. ओम प्रकाश

    धिक्कार है ऐसी सरकार ,रेलवे को जो इस प्रकार की घटनाओ को नही रोक सकती ,बैसे तो लंबी लंबी फेंकते है। रेलवे यात्रा एक भरोसे का प्रतीक थी उस पर से भी लोगों का विस्वास उठता जा रहा है। एक ट्रेन में लूटमार को रोक नही सकते तो फिर किस विकास की बात करते है,किस सुरक्षित यात्रा की बात करते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *